लोकनायक जयप्रकाश अंतरराष्ट्रीय अध्ययन विकास केन्द्र एवं संपूर्ण क्रांति अभियान के तत्वावधान में “जेपी आंदोलन दिवस ” के अवसर पर एक राष्ट्रीय परिसंवाद का आयोजन

*लोकनायक जयप्रकाश अंतरराष्ट्रीय अध्ययन विकास केन्द्र एवं संपूर्ण क्रांति अभियान के तत्वावधान में “जेपी आंदोलन दिवस ” के अवसर पर एक राष्ट्रीय परिसंवाद का आयोजन*

रविंद्र कुमार /पटना /09 अप्रैल 2023 . लोकनायक जयप्रकाश अंतरराष्ट्रीय अध्ययन विकास केन्द्र एवं संपूर्ण क्रांति अभियान के तत्वावधान में बिहार विधान परिषद के सभागार में ” जेपी आंदोलन दिवस ” के अवसर पर एक राष्ट्रीय परिसंवाद का आयोजन किया गया है । इस राष्ट्रीय परिसंवाद का विषय ” गांधी , लोहिया और जयप्रकाश के सपनों का भारत और मौजूदा लोकतंत्र ” था.

इस अवसर पर विहार विधान परिषद के उप सभापति मुख्य अतिथि के रूप में संबोधित करते हुए कहा कि पूंजीवादी व्यवस्था में लोकवादी परंपरा का होना आवश्यक है । केवल राज्य सत्ता पर निर्भरता लोकतंत्र के लिए खतरा है । उन्होंने कहा कि समाज के बीच काफी विषमता है , जिसे दूर करना आज़ के परिप्रेक्ष्य में जरूरी है ।

इसी क्रम में गांधी – लोहिया – जयप्रकाश के सपनों कि भारत और मौजूदा लोकतंत्र विषय पर कार्यक्रम के मुख्य वक्ता देश के प्रख्यात समाजवादी विचारक श्री रघु ठाकुर ने कहा कि लोहिया के वाद जेपी ने सवो॑दय एवं संपूर्ण क्रांति की राह चुनी । उन्होंने कहा कि यह गांधी और लोहिया का भारत नहीं लगता।अपराध बढ़ रहे हैं और समाज में विखंडन भी हो रहे हैं, ऐसे समय में गांधी और जयप्रकाश की दिखाए हुए रास्ते पर चलने की आवश्यकता है ।

इस मौके पर सुप्रसिद्ध जेपी सेनानी एवं पूर्व सांसद श्री शिवानन्द तिवारी कहा कि प्रशासन किसी की नहीं सुनता है , एक ग्राम सेवक पूरे गांव को तवाह कर दे रहा है , अब विरोध भी नहीं हो रहा है । पिछड़ों की राजनीति करने वाले स्वर्णों की राजनीति पर ध्यान रखा जाता है लेकिन पिछड़ों के नेता भी सामाजिक समरसता पर ध्यान नहीं देते। इसे ही सोशल जस्टिस कहा जाता है ।

इस अवसर पर कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए लोकनायक जयप्रकाश अंतरराष्ट्रीय अध्ययन विकास केन्द्र के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व केन्द्रीय मंत्री श्री ब्रज किशोर त्रिपाठी ने कहा कि जी एस टी में 60 प्रतिशत योगदान गरीबों का है, जबकि उनके वारे में कोई नहीं सोचता । आज पेट्रोलियम और गैस सिलेंडर के दाम बढ़ गए हैं लेकिन इस पर गंभीरता से कोई नहीं बोलता ।

दिल्ली से आए सोशलिस्ट पार्टी के पूर्व राष्ट्रीय महासचिव श्री श्याम गंभीर ने कहा कि अमीरों के बंगले से थोड़ी सी रोशनी लेकर गरीबों तक पहुंचाना है तभी देश में सामाजिक समरसता बढ़ेगी ।

बिहार के पूर्व उघोग मंत्री एवं राजद के राष्ट्रीय महासचिव श्री श्याम रजक ने कहा कि आज लोकतंत्र पर बहुत बडा संकट दिखाई दे रहा है , एसे समय में गांधी लोहिया और जयप्रकाश के विचारों को लागू करना आवश्यक है ।

 

आयोजन में विहार के पूर्व शिक्षा मंत्री श्री कृष्ण वल्लभ प्रसाद जी ने भी संबोधित किया ।

हालांकि इस पूरे कार्यक्रम की रूपरेखा तैयार करने वाले लोकनायक जयप्रकाश अंतरराष्ट्रीय अध्ययन विकास केन्द्र के राष्ट्रीय महासचिव अभय सिन्हा कार्यक्रम की पुरी तैयारी के साथ दिल्ली से पटना आकर रूके थे परन्तु उनके घर के अन्यतम निकट सदस्य की आक्समिक निधन होने के कारण वह उपस्थित नहीं हो पाए लेकिन उसके वाबजूद भी कार्यक्रम काफी सफल रहा ।

इस महत्वपूर्ण आयोजन में स्वागत भाषण आनंद देव द्वारा किया गया और धन्यवाद ज्ञापन केन्द्र के राष्ट्रीय सचिव श्री अरुण कुमार सिंह ने किया ।

कार्यक्रम में महिला चर्खा समिति की अध्यक्षा एवं भारत के पूर्व राष्ट्रपति देशरत्न डॉ राजेन्द्र प्रसाद की पौत्री डॉ तारा सिन्हा , वरिष्ठ साहित्यकार डॉ मधु वर्मा , केन्द्र की महीला सेल की सचिव श्रीमती प्रीति सिन्हा , श्री अमित कुमार एवं श्री चन्द्रशेखर प्रसाद , जेपी विश्व शांति प्रतिष्ठान के अध्यक्ष डॉ एम के मधु सहित काफी संख्या में गणमान्य नागरिक उपस्थित रहे ।

इस कार्यक्रम का संचालन पटना रेडियो के पूर्व निदेशक एवं जेपी सेनानी रहे डॉ किशोर सिन्हा ने किया और कार्यक्रम को सफल संचालित अंकिता किरण ने किया ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *